राजस्थान में अलग-अलग जाति के लोगों की शादी करने पर सरकार देगी पैसा

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme 2024: हम सब जानते हैं कि हमारे देश में अभी भी कुछ लोग अलग-अलग जाति के लोगों की शादी करने के खिलाफ हैं। लेकिन ये गलत है क्योंकि हम सब एक ही इंसान हैं और हमें एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए। इसलिए सरकार ने कुछ ऐसे काम किए हैं जिससे लोगों को अलग-अलग जाति के लोगों की शादी करने में कोई दिक्कत न हो। इसमें से एक काम है राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना।

इस योजना के अनुसार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि जो भी राजस्थान के लोग अलग-अलग जाति के लोगों से शादी करेंगे उन्हें सरकार से 10 लाख रुपये की मदद मिलेगी। इससे लोगों को अपने परिवार और समाज के दबाव से छुटकारा मिलेगा और वे अपने पसंद के साथ जीवन बिता सकेंगे।

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme

राजस्थान में विवाह करने पर सरकार देगी 10 लाख रुपये

हमारे देश में कुछ लोग अलग जाति के लोगों से शादी करने के विरोध में हैं। लेकिन ये गलत है क्योंकि हम सब एक ही इंसान हैं और हमें एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए। इसलिए राजस्थान सरकार ने एक योजना शुरू की है जिसमें जो भी लोग अलग जाति के लोगों से शादी करेंगे उन्हें सरकार से 10 लाख रुपये की मदद मिलेगी। इससे लोगों को अपने परिवार और समाज के दबाव से छुटकारा मिलेगा और वे अपने पसंद के साथ जीवन बिता सकेंगे।

इस योजना का लाभ लेने के लिए शादी करने वाले जोड़े को शादी के एक महीने के अंदर आवेदन करना होगा। इस योजना में वो लोग शामिल हैं जिनमें से एक अनुसूचित जाति का है और दूसरा सवर्ण जाति है। इस योजना को सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग चला रहा है। इस योजना का उद्देश्य है कि लोग अलग जाति धर्म में शादी करके समाज में एकता और समानता बढ़ाएं।

Chiranjeevi Yojana Card Download: राजस्थान के लोगों को मिलेगा 25 लाख रुपए का फ्री इलाज

Key Highlights of Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme

योजना का नामराजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना
संबंधित विभागसामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग
योजना की शुरुआत2017
लाभार्थीअंतरजातीय विवाह करने वाले जोड़े
उद्देश्यअंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहित करना और समाज में फैली गलत सोच को दूर करना
प्रोत्साहन राशि10 लाख रुपये
राज्यराजस्थान
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

राजस्थान में अलग जाति के लोगों की शादी करने पर सरकार की मदद

  • राजस्थान सरकार ने ये फैसला किया है कि जो भी लोग अलग जाति के लोगों से शादी करेंगे उन्हें सरकार से 10 लाख रुपये की मदद मिलेगी। ये पैसा शादी करने वाले जोड़ों के बैंक खाते में सीधे भेजा जाएगा।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए बस एक शर्त है कि शादी करने वाले में से एक की जाति अनुसूचित जाति हो। अगर ऐसा है तो वो इस योजना के अंतर्गत आते हैं।
  • इस योजना का उद्देश्य है कि अलग जाति के लोगों की शादी को बढ़ावा देना और समाज में जो गलत सोच है उसे दूर करना। इससे लोगों को अपने परिवार और समाज के दबाव से आजादी मिलेगी और वे अपने पसंद के साथ जीवन बिता सकेंगे।
  • इस योजना के तहत शादी करने वाले जोड़ों को सरकार की तरफ से सुरक्षा भी मिलेगी। अगर वो अपने घर से भागे हुए हैं तो उन्हें कोई भी नुकसान नहीं होगा।
  • राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत शादी करने वाले जोड़ों को एक बड़ी राशि मिलेगी जिससे वे अपने भविष्य के लिए कुछ कर सकेंगे।
  • इस योजना से समाज में जो बुराईयां हैं उनका अंत होगा और समाज में एकता और समानता का माहौल बनेगा।
  • राजस्थान आदिवासी विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत शादी करने वाले जोड़ों को जो पैसा मिलेगा उससे वे अपना घर बनाने में आसानी से काम ले सकेंगे।
  • राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का लक्ष्य है कि लोग अपने जीवनसाथी को अपनी मर्जी से चुन सकें।
  • इस योजना से जबरदस्ती की शादियों को रोका जा सकता है जो कि परिवार के दबाव के कारण होती हैं।

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme Eligibility

  • इस योजना के लिए पात्र होने के लिए जरूरी है कि शादी करने वाले में से एक अनुसूचित जाति का हो और दूसरा उससे अलग जाति का हो।
  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए राजस्थान राज्य का निवासी होना और निवास प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य है।
  • शादी करने वाले दोनों को कानूनी उम्र का होना चाहिए, जिसमें दुल्हन की उम्र 18 वर्ष या उससे अधिक हो और दूल्हा की उम्र 21 वर्ष या उससे अधिक हो।
  • शादी करने वाले दोनों को एक साथ रखे हुए राष्ट्रीयकृत बैंक के खाते की जानकारी आवेदन फॉर्म में देना होगा।
  • शादी की पुष्टि करने के लिए दोनों को एक मान्य पंजीकरण प्रमाण पत्र देना होगा, जो किसी प्रमाणित अधिकारी द्वारा जारी किया गया हो।
  • योजना के लिए पात्र होने के लिए जाति और आय की स्थिति का प्रमाण देना जरूरी है, जो कि सक्षम अधिकारियों द्वारा जारी किए गए आधिकारिक प्रमाण पत्रों के रूप में हो।
  • अपनी पहचान साबित करने के लिए दोनों को अपने आधार कार्ड जमा करना होगा, साथ ही कम से कम एक गवाह का यूआईडी (आधार) कार्ड भी देना होगा।
  • अपने निवास के बारे में बताने के लिए दोनों को उचित दस्तावेज जैसे राशन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि देना होगा, जिसमें उनका स्थायी और वर्तमान पता दिखाई दे।

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज चाहिए:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • पता प्रमाण
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र की जानकारी
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • कोर्ट विवाह प्रमाण पत्र
  • शादी करने वाले जोड़ों का साथ में फोटो
  • हाई स्कूल की मार्कशीट (यदि हो)

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme के लिए online application process है?

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आपको इसके लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

  • सबसे पहले आपको राजस्थान सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • फिर आपको सामाजिक न्याय प्रबंधन प्रणाली (SJMS) पोर्टल पर लॉगिन करना होगा। आपको इसके लिए अपना SSO ID और पासवर्ड डालना होगा।
  • लॉगिन करने के बाद आपको डॉ. साविता अंबेडकर अंतरजातीय विवाह सहायता योजना का चयन करना होगा।
  • फिर आपको आवेदन फॉर्म भरना होगा, जिसमें आपको अपनी व्यक्तिगत और शादी से संबंधित जानकारी देनी होगी।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको अपने दस्तावेजों की स्कैन की हुई कॉपी अपलोड करनी होगी।
  • अंत में आपको अपना आवेदन सबमिट करना होगा।

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme के लिए offline process है?

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग या जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां पहुंचने के बाद आपको वहां के किसी अधिकारी से राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
  • फॉर्म मिलने के बाद आपको उसमें मांगी गई सभी जानकारी सावधानीपूर्वक भरनी होगी।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज लगाने होंगे।
  • फिर आपको भरा हुआ फॉर्म लेकर या तो सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग या जिला मजिस्ट्रेट के कार्यालय में जमा करना होगा।
  • जमा करने के बाद आपका फॉर्म एक सख्त जांच और मूल्यांकन के लिए भेजा जाएगा।
  • अगर आप इस योजना के लिए पात्र हैं तो आपको राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लाभ मिलेंगे।

Sachin Jangra, a BSc Computer Science graduate, combines his technical expertise with a passion for blogging and SEO. With three years of hands-on experience, he navigates the digital landscape, creating insightful content and optimizing online presence.


DMCA.com Protection Status

Leave a Comment

PMO Yojanaa

हमारी वेबसाइट किसी भी सरकारी संस्था या अधिकारिक एजेंसी से सीधे जुड़ी हुई नहीं है। हम आपको विभिन्न सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी देने के लिए आधिकारिक स्रोतों और समाचार माध्यमों से प्राप्त डेटा का उपयोग करते हैं। हमारा उद्देश्य है कि आप तक सही और विश्वसनीय जानकारी पहुंचे। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि किसी भी जानकारी पर भरोसा करने से पहले, उसे संबंधित सरकारी वेबसाइट पर जाकर स्वयं सत्यापित कर लें। हमारा प्रयास है कि आपको सटीक और उपयोगी सूचना मिले, और हम आपको यह सलाह देते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से ही सभी जानकारी की पुष्टि करें।