सरकार दे रही है आपको 3 लाख रुपये का लोन बिना किसी गारंटी के, बस आपको करना होगा ये काम!

विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर सरकार ने पिछले साल पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma Yojana) शुरू की थी। इस योजना का उद्देश्य उन लोगों को समर्थ बनाना है जो अपना खुद का बिजनेस करना चाहते हैं। इस योजना में उन्हें लोन के साथ-साथ आर्थिक सहायता और स्किल ट्रेनिंग भी मिलती है। इस योजना के पहले चरण में वे 1 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं।

PM Vishwakarma Yojana का लॉन्च 17 सितंबर 2023 को, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 73वें जन्मदिन पर हुआ था। उन्होंने इस योजना को अपने जन्मदिन का उपहार बताया था। इस योजना का शुभारंभ भारत इंटरनेशनल कन्वेंशन और एक्सपो सेंटर में हुआ था, जो द्वार्का में यशोबोमी कन्वेंशन सेंटर के नाम से भी जाना जाता है। पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत लोगों को कई फायदे मिलते हैं, जैसे कि नकद सहायता, कम ब्याज दर, आसान किस्तें, आदि।

PM Vishwakarma Yojana

इस योजना से जुड़ने और इसके फायदे उठाने के लिए कई लोग इसके लिए पंजीकरण और ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं। अगर आप भी इस योजना का हिस्सा बनना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी। आपको इसकी पात्रता मानदंड, आवेदन प्रक्रिया, दस्तावेजों की सूची, आदि के बारे में जानना होगा।

Key Highlights of PM Vishwakarma Yojana

योजना का नामप्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना
योजना शुरू होने की तारीख17 सितमबर 2023
योजना किसने शुरू कीप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
योजना शुरू करने का स्थाननई दिल्ली
योजना के लाभार्थीपारंपरिक कारीगर और शिल्पकार
योजना के लाभमुफ़्त ट्रैनिंग, टूल किट के लिए राशि, लोन, सर्टिफिकेट, आदि
आधिकारिक वेबसाईटClick Here

पीएम विश्वकर्मा योजना 2024 – अपना बिजनेस शुरू करने के लिए सुनहरा मौका

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 73वें जन्मदिन पर पीएम विश्वकर्मा योजना की शुरुआत की। उन्होंने इस योजना को विश्वकर्मा जयंती का तोहफा बताया। इस योजना का मकसद उन लोगों को सहायता देना है जो अपना खुद का बिजनेस करना चाहते हैं। इस योजना में उन्हें नकद सहायता के साथ-साथ प्रशिक्षण, सलाह और नवीनतम तकनीकों का ज्ञान भी मिलता है।

इस योजना की लागत 15 करोड़ रुपये है, जो सरकार की योजनाओं की निष्ठा को दर्शाता है। इस योजना के तहत उन लोगों को फायदा मिलता है जो पारंपरिक व्यवसायों में काम करते हैं, जैसे कि कपड़े धोने, बाल काटने, सोने की ईंट बनाने, ईंट बनाने और धातु कार्य। इस योजना का लक्ष्य उन कुशल कारीगरों को मदद करना है जो पैसे और प्रशिक्षण की कमी के कारण परेशान हैं।

PM Vishwakarma Yojana – अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए लाभ और फायदे

पीएम विश्वकर्मा योजना एक ऐसी योजना है जो देश के 18 पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को उनके व्यवसाय को विकसित करने में मदद करती है। इस योजना के तहत उन्हें नकद सहायता, प्रशिक्षण, सलाह और नवीनतम तकनीकों का ज्ञान दिया जाता है। इस योजना का उद्देश्य उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ना और आत्मनिर्भर बनाना है।

Sukanya Samriddhi Yojana

PM Vishwakarma Yojana का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 73वें जन्मदिन पर, विश्वकर्मा जयंती के दिन किया था। उन्होंने इस योजना को विश्वकर्मा जयंती का तोहफा कहा था। इस योजना की लागत 15 करोड़ रुपये है, जो सरकार की योजनाओं की निष्ठा को दर्शाता है।

इस योजना के तहत उन लोगों को फायदा मिलता है जो पारंपरिक व्यवसायों में काम करते हैं, जैसे कि बढ़ई, सुनार, मूर्तिकार, लोहर और कुम्हार। इन व्यवसायों को आधुनिक बनाने और उनकी आय बढ़ाने के लिए इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है।

इस योजना से जुड़ने और इसके लाभ उठाने के लिए आपको कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी। आपको इसकी पात्रता, आवेदन कैसे करना है, कौन-कौन से दस्तावेज़ चाहिए, आदि के बारे में जानना होगा। इसके लिए आप यहां क्लिक करके एक ऑनलाइन लेख पुनर्लेखन उपकरण का उपयोग कर सकते हैं, जो आपके लेख को अलग-अलग शब्दों और वाक्यों में बदल देगा।

पीएम विश्वकर्मा 2024 कौसल सम्मान, PMKVY 3.0 से कैसे मेल-खाता है?

पीएम विश्वकर्मा 2024 कौसल सम्मान और PMKVY 3.0 दोनों ही प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत चलने वाले कार्यक्रम हैं। इन दोनों का उद्देश्य देश के युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देकर रोजगार योग्य और आत्मनिर्भर बनाना है।

पीएम विश्वकर्मा 2024 कौसल सम्मान का लक्ष्य उन पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को सम्मानित करना है जो बढ़ई, सुनार, मूर्तिकार, लोहर और कुम्हार जैसे व्यवसायों में काम करते हैं। इस कार्यक्रम में उन्हें नकद सहायता, प्रशिक्षण, सलाह और नवीनतम तकनीकों का ज्ञान दिया जाएगा।

PMKVY 3.0 का लक्ष्य उन सभी क्षेत्रों में कौशल विकास को बढ़ावा देना है जो देश की आर्थिक गतिविधियों और रोजगार के अवसरों के लिए महत्वपूर्ण हैं। इस कार्यक्रम में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की भूमिका बढ़ाई गई है ताकि वे अपनी स्थानीय जरूरतों और बाजार की मांग के अनुसार कौशल प्रशिक्षण का आयोजन कर सकें।

परीक्षा पे चर्चा के लिए रजिस्ट्रेशन करने वालों को मिलेगा प्रमाण पत्र, जानें डाउनलोड करने की प्रक्रिया

इस प्रकार, पीएम विश्वकर्मा 2024 कौसल सम्मान और PMKVY 3.0 दोनों ही कौशल विकास के क्षेत्र में सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं। इन दोनों के बीच मेल-खाता यह है कि वे दोनों ही युवाओं को उनके व्यवसाय को आधुनिक बनाने और उनकी आय बढ़ाने में मदद करते हैं।

लोन लेने के लिए कौन हैं पात्र

यदि आप अपना स्वयं का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप इस योजना के अंतर्गत लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस योजना में आपको पहले चरण में 1 लाख रुपये और दूसरे चरण में अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए 2 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है।

इस योजना का लाभ उन लोगों को मिलता है जो निम्नलिखित काम करते हैं-

  • कारपेंटर (बढ़ई)
  • लोहार
  • ताला बनाने वाले
  • सुनार
  • नाव बनाने वाले
  • टूल किट निर्माता
  • पत्थर तोड़ने वाले
  • मोची/जूता कारीगर
  • टोकरी/चटाई/झाड़ू बनाने वाले
  • गुड़िया और अन्य खिलौना निर्माता (पारंपरिक)
  • नाई
  • मिट्टी के बर्तन बनाने वाले (कुम्हार)
  • मूर्तिकार
  • राज मिस्त्री
  • मछली का जाल बनाने वाले
  • धोबी
  • दर्जी
  • माला बनाने वाले

योजना के बारे में जानने वाली महत्वपूर्ण बातें

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको कुछ शर्तें पूरी करनी होंगी जो निम्नलिखित हैं-

  • योजना का फायदा केवल भारत के नागरिकों को ही मिलेगा।
  • योजना का फायदा सिर्फ विश्वकर्मा द्वारा निर्धारित 18 कामों में से किसी एक काम करने वालों को ही मिलेगा।
  • योजना के लिए आवेदक की आयु 18 से 50 साल के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक के पास संबंधित ट्रेड में मान्यता प्राप्त संस्थान से प्राप्त प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  • आवेदक को योजना में शामिल 140 जातियों में से किसी एक जाति से संबंधित होना अनिवार्य है।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में शामिल होने के लिए कौन से दस्तावेज चाहिए

इस योजना में भाग लेने के लिए आपको कुछ दस्तावेज अपलोड करने होंगे जो निम्नलिखित हैं-

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना से मिलने वाले लाभ

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना एक ऐसी योजना है जो पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को उनके काम को बेहतर बनाने और उनकी आय को बढ़ाने में मदद करती है। इस योजना से जुड़े कुछ लाभ निम्नलिखित हैं-

  • मान्यता: इस योजना के तहत आपको एक प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड मिलेगा जिससे आपको विश्वकर्मा के रूप में पहचान मिलेगी। इससे आपको नौकरी मिलने में आसानी होगी।
  • कौशल (ट्रैनिंग): इस योजना में आपको 5-7 दिन का बुनियादी प्रशिक्षण और 15 दिन का उन्नत प्रशिक्षण दिया जाएगा जिसमें आपको अपने काम के लिए जरूरी ज्ञान और तकनीक सिखाई जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान आपको 500 रुपये प्रतिदिन की भत्ता भी मिलेगी।
  • टूलकिट के लिए राशि: प्रशिक्षण के बाद आपको 15,000 रुपये की राशि मिलेगी जिससे आप अपने काम के लिए जरूरी टूलकिट खरीद सकेंगे।
  • ऋण (लोन) सहायता: इस योजना में आपको पहली बार 1 लाख रुपये और दूसरी बार 2 लाख रुपये तक का लोन दिया जाएगा जिससे आप अपना बिजनेस शुरू या बढ़ा सकेंगे। लोन की ब्याज दर 5% होगी और इसका भुगतान आपको 18 या 30 महीने में करना होगा। लोन का गारंटी शुल्क सरकार द्वारा दिया जाएगा।
  • डिजिटल लेनदेन के लिए प्रोत्साहन: यदि आप अपने लेनदेन को डिजिटल रूप से करते हैं तो आपको हर महीने 1 रुपये प्रति लेनदेन का प्रोत्साहन मिलेगा। आप अधिकतम 100 लेनदेन के लिए इसका लाभ उठा सकते हैं।
  • मार्केटिंग मे सहायता: इस योजना में आपको राष्ट्रीय विपणन समिति की ओर से अपने काम को प्रचारित करने के लिए विभिन्न सेवाएं मिलेंगी। जैसे कि गुणवत्ता प्रमाणन, ब्रांडिंग और प्रचार, ई-कॉमर्स लिंकेज, व्यापार मेले विज्ञापन, प्रचार और अन्य विपणन गतिविधियां।

इस योजना में शामिल होने के लिए कैसे आवेदन करें?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना एक ऐसी योजना है जो पारंपरिक श्रमिकों और शिल्पकारों को उनके काम को बेहतर बनाने और उनकी आय को बढ़ाने में मदद करती है। इस योजना में शामिल होने के लिए आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा-

  • इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और होम पेज पर Login के सेक्शन में Applicant / Beneficiary Login का विकल्प चुनें।
  • उसके बाद एक नया पेज खुलेगा जहां आपको Apply Online का विकल्प मिलेगा। उस पर क्लिक करें।
  • फिर एक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा जिसमें आपको अपनी जानकारी भरनी होगी।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करना होगा।
  • अंत में आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा और आपका आवेदन पूरा हो जाएगा।
  • आपको अपने आवेदन की रसीद प्रिंट करके सुरक्षित रखनी होगी।

इन सभी चरणों को फॉलो करके आप आसानी से PM Vishwakarma Yojana में शामिल हो सकते हैं और इसके फायदे उठा सकते हैं।

Sachin Jangra, a BSc Computer Science graduate, combines his technical expertise with a passion for blogging and SEO. With three years of hands-on experience, he navigates the digital landscape, creating insightful content and optimizing online presence.


DMCA.com Protection Status

Leave a Comment

PMO Yojanaa

हमारी वेबसाइट किसी भी सरकारी संस्था या अधिकारिक एजेंसी से सीधे जुड़ी हुई नहीं है। हम आपको विभिन्न सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी देने के लिए आधिकारिक स्रोतों और समाचार माध्यमों से प्राप्त डेटा का उपयोग करते हैं। हमारा उद्देश्य है कि आप तक सही और विश्वसनीय जानकारी पहुंचे। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि किसी भी जानकारी पर भरोसा करने से पहले, उसे संबंधित सरकारी वेबसाइट पर जाकर स्वयं सत्यापित कर लें। हमारा प्रयास है कि आपको सटीक और उपयोगी सूचना मिले, और हम आपको यह सलाह देते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से ही सभी जानकारी की पुष्टि करें।